आज खुद विश्वास मत पेश करेंगे सीएम अरविंद केजरीवाल, जानें वोटिंग होगी या नहीं

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज विधानसभा के विशेष सत्र में अपनी सरकार के लिए विश्वास मत प्रस्तुत करेंगे। इस संबंध में सदन के अंदर एक प्रस्ताव पेश किया जाएगा, जिस पर चर्चा करने के बाद वोटिंग कराई जा सकती है या ध्वनि मत से प्रस्ताव पास किया जा सकता है। इस दौरान सत्ता पक्ष के सदस्य जहां दिल्ली सरकार के द्वारा किए गए अच्छे कामों का ब्योरा पेश करते हुए केंद्र सरकार और बीजेपी पर एक बार फिर हमला बोलेंगे, वहीं विपक्ष भी शिक्षा, स्वास्थ्य, आबकारी नीति समेत कई अन्य मुद्दों पर फिर से सरकार को घेरने का प्रयास करेगा। ऐसे में सत्र के एक बार फिर हंगामेदार रहने के आसार हैं। दिल्‍ली विधानसभा के विशेष सत्र से जुड़ी लाइव अपडेट्स के लिए बने रहें एनबीटी ऑनलाइन के साथ।

  • दिल्‍ली विधानसभा के विशेष सत्र की लाइव अपडेट्स

आज फिर AAP सरकार को घेरेगा विपक्ष
विपक्ष ने एक बार फिर सोमवार को होने वाली सदन की कार्रवाई के दौरान आबकारी नीति और क्लासरूम मामले में सरकार से जवाब मांगने की रणनीति बनाई है। रविवार को विपक्ष के नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी की अध्यक्षता में हुई बीजेपी विधायक दल की बैठक में तय किया गया है कि विपक्ष उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की अपनी मांग पर कायम रहेगा और आबकारी नीति व स्कूल के कमरे बनाने में हुए कथित भ्रष्टाचार के मुद्दे पर सरकार से जवाब मांगेगा। ऐसे में सत्र के दौरान एक बार फिर जोरदार हंगामे की आशंका है।

शुक्रवार को विधानसभा में खूब हुआ था बवाल
इससे पहले शुक्रवार को विधानसभा का एक दिन का विशेष सत्र बुलाया गया था। सत्ता पक्ष की तरफ से बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त करके दिल्ली की सरकार को गिराने का आरोप लगाया गया था। आबकारी नीति को लेकर उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ चल रही सीबीआई की कार्रवाई को भी इसी षड्यंत्र का एक हिस्सा बताया गया था। सत्र की शुरुआत में ही हंगामे के चलते विपक्ष के सभी विधायकों को मार्शल बुलवाकर सदन से बाहर निकाल दिया गया था, जिसके चलते विपक्षी सदस्य पूरे दिन कार्रवाई में हिस्सा नहीं ले पाए थे। इसके विरोध में उन्होंने कल एक मॉक असेंबली सेशन का भी आयोजन किया था और सत्ता पक्ष पर अपने राजनीतिक लाभ के लिए विधानसभा के दुरुपयोग करने और विपक्ष की आवाज को दबाने का आरोप लगाया था।

navbharat times
दिल्‍ली विधानसभा में आज भी हंगामे की आशंका, वोट ऑफ कॉन्फिडेंस के लिए प्रस्‍ताव लाएंगे सीएम अरविंद केजरीवाल

केजरीवाल ने खुद ही रखा विश्वास मत पेश करने का प्रस्ताव
शुक्रवार को चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी पर ऑपरेशनल कमल के तहत डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को झूठे केस में फंसाने, उन्हें पार्टी तोड़ने के बदले सीएम का पद और सभी मामले खत्म करने का ऑफर देने और उसमें सफल ना रहने पर 20-20 करोड़ में आम आदमी पार्टी के 40 विधायकों को खरीदने की कोशिश करने का आरोप लगाया था। सीएम ने कहा था कि बीजेपी की लाख कोशिशों के बावजूद हमारे विधायक नहीं टूटे, लेकिन हर तरफ यही अफवाह फैलाई जा रही है कि हमारे विधायक टूट गए, उन्हें बीजेपी ने खरीद लिया। ऐसे में दिल्ली की जनता के सामने अपनी सरकार की मजबूती और एकजुटता को साबित करने के लिए सीएम ने खुद ही सदन में विश्वास मत पेश करने का प्रस्ताव रखा था, जिसे स्वीकार करते हुए अध्यक्ष ने सोमवार को विश्वास मत पेश करने की अनुमति दे दी थी।



Source link

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: