Saturday, July 2, 2022
HomeWorldअलविदा इंटरनेट एक्सप्लोरर, आपको नहीं आपकी विरासत को याद किया जाएगा -...

अलविदा इंटरनेट एक्सप्लोरर, आपको नहीं आपकी विरासत को याद किया जाएगा – goodbye internet explorer not you your legacy will be remembered


मोहिउद्दीन अहमद, एम इमरान मलिक और पॉल हास्केल-डाउलैंड, एडिथ कोवान यूनिवर्सिटी जोंडालुप (ऑस्ट्रेलिया), 17 जून (द कन्वरसेशन) 27 साल बाद, माइक्रोसॉफ्ट ने आखिरकार वेब ब्राउज़र इंटरनेट एक्सप्लोरर को बिदाई दे दी है, और एक्सप्लोरर उपयोगकर्ताओं को अपने एज ब्राउज़र के नवीनतम संस्करण में पुनर्निर्देशित करेगा।15 जून तक, माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज 10 के कई संस्करणों पर एक्सप्लोरर के लिए समर्थन समाप्त कर दिया – जिसका अर्थ है कि कोई और अधिक उत्पादकता, विश्वसनीयता या सुरक्षा अपडेट नहीं। एक्सप्लोरर एक काम करने वाला ब्राउज़र बना रहेगा, लेकिन नए खतरों के सामने आने पर इसे उनसे सुरक्षित नहीं किया जाएगा।कंप्यूटिंग में सत्ताईस साल एक लंबा समय है। कई लोग कहेंगे कि यह कदम लंबे समय से प्रतीक्षित था। एक्सप्लोरर लंबे समय से अपने प्रतिस्पर्धियों से प्रदर्शन के मामले में मार खाता रहा है, और उपयोगकर्ताओं के खराब अनुभवों के कारण वर्षों से मजाक का हिस्सा बनता रहा है।यह कैसे शुरू हुआएक्सप्लोरर को पहली बार 1995 में माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन द्वारा पेश किया गया था, और विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ जोड़ा गया था।इसे इस बात का श्रेय दिया जाना चाहिए कि एक्सप्लोरर ने पहली बार कई विंडोज उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट की खुशियों से परिचित कराया। वेब के जनक टिम बर्नर्स-ली ने 1993 में ही तो पहला सार्वजनिक वेब ब्राउज़र (जिसे वर्ल्डवाइडवेब कहा जाता है) जारी किया था।एक्सप्लोरर को अपने डिफ़ॉल्ट ब्राउज़र के रूप में रखने का मतलब था कि विंडोज़ के वैश्विक उपयोगकर्ता आधार के एक बड़ा हिस्से के पास कोई विकल्प नहीं था। लेकिन माइक्रोसॉफ्ट को अंततः ब्राउज़र बाजार पर अपने एकाधिकार की कीमत चुकानी पड़ी और कई तरह की चुनौतियों से गुजरना पड़ा।इतना होने पर भी, भले ही कई अन्य ब्राउज़र आसपास थे , 2002 के आसपास तक, फ़ायरफ़ॉक्स लॉन्च होने तक, एक्सप्लोरर लाखों लोगों के लिए डिफ़ॉल्ट विकल्प बना रहा।यह कैसे समाप्त हुआमाइक्रोसॉफ्ट ने एक्सप्लोरर के 11 संस्करण जारी किए हैं (बीच-बीच में कई मामूली संशोधन के साथ)। इसने प्रत्येक रिलीज के साथ विभिन्न कार्यक्षमता और घटकों को जोड़ा। इसके बावजूद, एक्सप्लोरर के घिसे पिटे स्वरूप के कारण इसने उपभोक्ताओं का विश्वास खो दिया, जिसमें खराब डिज़ाइन और धीमापन शामिल था।ऐसा लगता है कि माइक्रासॉफ्ट अपने एकाधिकार के साथ इतना सहज हो गया कि जैसे जैसे नये प्रतियोगी युद्ध के मैदान में उतरने लगे, उसने अपने उत्पाद की गुणवत्ता पर ध्यान देना कम कर दिया।यहां तक कि केवल इसके कॉस्मेटिक इंटरफ़ेस (वेबसाइट पर जाने पर आप जो देखते हैं और संवाद करते हैं) को देखते हुए, एक्सप्लोरर उपयोगकर्ताओं को आधुनिक वेबसाइटों का प्रामाणिक अनुभव नहीं दे सका।सुरक्षा के मोर्चे पर भी एक्सप्लोरर में खासी कमजोरियां नजर आई, जिसका साइबर अपराधियों ने आसानी से और सफलतापूर्वक फायदा उठाया।हालाँकि माइक्रासाफ्ट ने ब्राउज़र के विभिन्न संस्करणों में इनमें से कई कमजोरियों को ठीक कर लिया है, फिर भी इसके मूल स्वरूप को सुरक्षा विशेषज्ञों द्वारा असुरक्षित माना जाता है। माइक्रोसॉफ्ट ने स्वयं इस बात को स्वीकार किया है: … [एक्सप्लोरर] अभी भी 25 साल पुरानी तकनीक पर आधारित है। यह एक विरासती ब्राउज़र है जो वास्तुकला की दृष्टि से पुराना है और आधुनिक वेब की सुरक्षा चुनौतियों का सामना करने में असमर्थ है।इन चिंताओं के परिणामस्वरूप यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट फॉर होमलैंड सिक्योरिटी ने बार-बार इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को एक्सप्लोरर का उपयोग करने के खिलाफ सलाह दी है।आधुनिक दर्शकों पर जीत हासिल करने में एक्सप्लोरर की विफलता माइक्रोसॉफ्ट के उपयोगकर्ताओं को एज की ओर धकेलने के चल रहे प्रयासों के माध्यम से और अधिक स्पष्ट है। एज को पहली बार 2015 में पेश किया गया था, और तब से एक्सप्लोरर का उपयोग केवल संगतता समाधान के रूप में किया गया है।एक्सप्लोरर किसका विरोध कर रहा थाबाजार हिस्सेदारी के संदर्भ में, वर्तमान में 64% से अधिक ब्राउज़र उपयोगकर्ता क्रोम का उपयोग करते हैं। एक्सप्लोरर 1% से भी कम हो गया है, और यहां तक कि एज के पास केवल 4% उपयोगकर्ता हैं। ब्राउजर बाजार में क्रोम को किस चीज ने इतना आगे बढ़ाया है? क्रोम को पहली बार गूगल द्वारा 2008 में ओपन सोर्स क्रोमियम प्रोजेक्ट पर पेश किया गया था, और तब से इसे सक्रिय रूप से विकसित और समर्थित किया गया है।ओपन सोर्स होने का मतलब है कि सॉफ्टवेयर सार्वजनिक रूप से उपलब्ध है, और कोई भी इसके पीछे चलने वाले सोर्स कोड का निरीक्षण कर सकता है। व्यक्ति भी स्रोत कोड में योगदान कर सकते हैं, जिससे सॉफ्टवेयर की उत्पादकता, विश्वसनीयता और सुरक्षा में वृद्धि हो सकती है। एक्सप्लोरर के साथ यह कभी भी एक विकल्प नहीं था।इसके अलावा, क्रोम बहु-मंच है: इसका उपयोग अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे कि लिनक्स, मैकओएस और मोबाइल उपकरणों पर किया जा सकता है, और एज के रिलीज होने से बहुत पहले यह सिस्टम की एक श्रृंखला का समर्थन कर रहा था।इस बीच, एक्सप्लोरर मुख्य रूप से विंडोज़, एक्सबॉक्स और मैकोज़ के कुछ संस्करणों तक ही सीमित है।एक्सप्लोरर के बारे में क्या करना है (यदि आप उन कुछ लोगों में से एक हैं जो अभी भी आपके डेस्कटॉप पर इसके साथ बैठे हैं) – सुरक्षा जोखिमों से बचने के लिए बस इसे अनइंस्टॉल करें।यहां तक कि अगर आप एक्सप्लोरर का उपयोग नहीं कर रहे हैं, तो बस इसे स्थापित करने से आपके डिवाइस को खतरा हो सकता है। इसमें दो राय नहीं कि कोई भी मृत ब्राउज़र के माध्यम से साइबर हमले का शिकार नहीं बनना चाहता! द कन्वरसेशन एकता एकताएकता


Source link
#अलवद #इटरनट #एकसपलरर #आपक #नह #आपक #वरसत #क #यद #कय #जएग #goodbye #internet #explorer #legacy #remembered

RELATED ARTICLES

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments