अब क्या करेगा चीन! नैन्सी पेलोसी दौरे के 12 दिन बाद फिर ताइवान पहुंचे कुछ अमेरिकी सांसद


ताइपे. अमेरिकी सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल, प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैन्सी पेलोसी की यात्रा के 12 दिन बाद ताइवान का दौरा कर रहा है. पेलोसी के दौरे पर चीन ने सख्त आपत्ति जताई थी. ताइवान में अमेरिकन इंस्टीट्यूट ने कहा कि पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व मैसाचुसेट्स के डेमोक्रेटिक सांसद एड मार्के कर रहे हैं और एशिया की यात्रा के तहत रविवार और सोमवार को ताइवान में हैं.

प्रतिनिधिमंडल के सदस्य अमेरिका-ताइवान संबंधों, क्षेत्रीय सुरक्षा, व्यापार, निवेश और अन्य मुद्दों पर चर्चा करने के लिए वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगे. यह संस्थान अमेरिकी सरकार का प्रतिनिधित्व करता है. अमेरिका का ताइवान के साथ राजनयिक संबंध नहीं है. पेलोसी के दो अगस्त के दौरे के जवाब में चीन ने मिसाइलें दागी थीं और कई दिनों तक ताइवान के समुद्र और हवाई क्षेत्र के आसपास युद्धपोत तथा लड़ाकू विमान मंडराते रहे.

चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है और दूसरे देशों के साथ किसी तरह के संपर्क पर कड़ा एतराज जताता है. ताइवान के एक प्रसारक ने अमेरिकी सरकार के एक विमान के शाम 7 बजे के करीब ताइवान की राजधानी ताइपे में सोंगशान हवाई अड्डे पर उतरने का वीडियो प्रदर्शित किया. हालांकि, अमेरिकन इंस्टीट्यूट के संक्षिप्त बयान में विमान में सवार लोगों के बारे में जानकारी नहीं दी गई. बयान में प्रतिनिधिमंडल के एशिया दौरे के तहत रविवार और सोमवार को ताइवान में रहने की जानकारी दी गई.

प्रतिनिधिमंडल के अन्य सदस्य औमुआ अमाता कोलमैन राडेवेगन, जॉन गारमेंडी, एलन लोवेंथल और डॉन बेयर हैं. ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि चीनी युद्धक विमान सैन्य अभ्यास के समापन के बाद भी ताइवान के समुद्र के आसपास मंडराते दिखे हैं. मंत्रालय ने कहा कि रविवार को कम से कम 10 चीनी युद्धक विमानों ने इस क्षेत्र में उड़ान भरी.

Tags: China, Taiwan, United States


hindi.news18.com

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: